मुख्य पृष्ठ
अद्यतन की अन्तिम दिनांक 27-02-13
प्रभाग
 
प्रशासन
संपदा एवं निर्माण
जनशक्ति
प्रशिक्षण संस्थान
अन्य प्रभाग
ई डी पी केंद्र
विभागीय अनुशासन
विधि कक्ष
हिन्दी कक्ष
 
 
रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय
.
.रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय का संक्षिप्त विवरण

1. इतिहास . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय की स्थापना 1902 में तात्कालिक रक्षा मुख्यालय में विद्यमान छः विभागीय पुस्तकालयों का विलय करके की गई थी। आरंभ में इसे ‘ मिलिटरी विभाग का केंद्रीय पुस्तकालय ’ कहा जाता था। 1921 में इसे ‘ सेना मुख्यालय अधिकारी पुस्तकालय ’ नाम दिया गया और अंततः 1948 में इसे ‘ रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय ’ का वर्तमान नाम दिया गया। पुस्तकालय के प्रशासन का कार्य 1948 तक रक्षा मुख्यालय की एक शाखा से दूसरी शाखा को सौंपा जाता रहा जब तक कि इसे एक अंतर सेवा संगठन का दर्जा प्रदान नहीं कर दिया गया।

2. वर्तमान स्वरूप . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय साउथ ब्लॉक के कमरा सं. 129-ई में स्थित है। यह रक्षा मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय (वित्त), तीनों सेना मुख्यालयों, अंतर सेवा संगठनों एवं दिल्ली स्थित अन्य रक्षा स्थापनाओं के अधिकारियों की जरूरतों को पूरा करता है। इस समय लगभग 600 सदस्य रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय की सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं। लगभग 200 पाठक नियमित रूप से प्रतिदिन पुस्तकालय में आते हैं।

3. पुस्तकालय अनुदान . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय पुस्तकें एवं अन्य प्रकाशन खरीदने के लिए अपना वार्षिक बजट वित्तीय योजना महानिदेशालय से प्राप्त करता है। वित्तीय वर्ष 2012-13 के लिए बजट आबंटन 27.44 लाख रुपए है।

4. प्रशासन . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय का प्रशासन संबंधी कार्य सं स (प्रशि) एवं मु प्र अ कार्यालय के अनु स क प्रभाग द्वारा किया जाता है।

5. पुस्तकों का चयन . पुस्तक चयन उप समिति (बी एस एस सी) के अध्यक्ष सं स (प्रशि) एवं मु प्र अ हैं एवं इसमें तीनों सेना मुख्यालयों, रक्षा (वित्त) एवं राजभाषा (रा भा) के प्रतिनिधि शामिल हैं। यह उप समिति रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय के लिए पुस्तकों एवं अन्य प्रकाशनों का चयन करती है। ए एल आई ओ इस पुस्तक चयन उप समिति के सदस्य–सचिव हैं।

6. संग्रहण . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय के पास लगभग 60,000 पुस्तकों एवं 150 समाचार पत्र तथा पत्रिकाओं का संग्रह है। रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय, रक्षा मंत्रालय में योजना एवं नीति निर्माण से जुड़े विषयों पर साहित्य उपलब्ध कराता है। यह बेस्टसेलर्स एवं विभिन्न समाचार–पत्रों तथा पत्रिकाओं में छपी पुस्तक समीक्षाओं के आधार पर अन्य लोकप्रिय उत्तम पुस्तकों के रूप में सामान्य पाठकों की जरूरत पूरी करने के साथ-साथ रक्षा एवं संबंधित विषयों में भी प्रचुर मात्रा में विशेष पुस्तकें रखता है। प्रत्येक वर्ष औसतन 1000-1500 नई पुस्तकें पुस्तकालय के संग्रह में शामिल की जाती हैं।

7. सेवाएं . रक्षा मंत्रालय पुस्तकालय रक्षा मंत्रालय के सभी कर्मचारियों को संदर्भ एवं पुस्तकें उधार देने संबंधी सेवाएं प्रदान कर रहा है। वे विधिवत रूप से सदस्यता प्रपत्र भरकर एवं उसे अपने प्रशासनिक अनुभाग द्वारा अग्रेषित कराकर पुस्तकालय के सदस्य बन सकते हैं।

 
 
   
इस साइट को आई ई 5 अथवा इससे अधिक एवं 800x600 रेजोल्यूशन पर सर्वोतम ढंग से देखा जा सकता है। डिस्क्लेमर: हालांकि यह साइट सामान्य प्रयोग के लिए भरोसेमंद सूचना उपलब्ध कराती है, फिर भी इस पर अमल करने से पहले संबंधित कार्यालयों से पु्ष्टि कर लें। यह वेबसाइट 24 अप्रैल 2004 को आरंभ की गई एवं इसका रखरखाव मु प्र अ/ई डी पी सेल, रक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाता है।

dkWihjkbV © 2004 [ la l (iz) ,oa eq iz v ] lokZf/kdkj lqjf{kr!